सार्वनामिक विशेषण की परिभाषा, प्रकार और उदाहरण

इस पेज पर आप सार्वनामिक विशेषण की समस्त जानकारी विस्तार से पढ़ेंगे।

पिछले पेज पर हमने काल की जानकारी शेयर की हैं तो उस पोस्ट को भी पढ़े।

चलिए आज हम सार्वनामिक विशेषण की समस्त जानकारी पढ़ते और समझते हैं।

सार्वनामिक विशेषण किसे कहते हैं

ऐसे सर्वनाम शब्द जो संज्ञा से पहले लगकर उस संज्ञा शब्द की विशेषण की तरह विशेषता बताते हैं ऐसे शब्दों को सार्वनामिक विशेषण कहते हैं।

जैसे :-

  • मेरी बुक
  • मेरी घड़ी
  • किसी का घर
  • किसी की कार इत्यादि।

सार्वनामिक विशेषण के प्रकार

सार्वनामिक विशेषण के 6 प्रकार होते हैं।

  1. संकेतवाचक सार्वनामिक विशेषण
  2. अनिश्चयवाचक सार्वनामिक विशेषण
  3. प्रश्नवाचक सार्वनामिक विशेषण
  4. सम्बन्धवाचक सार्वनामिक विशेषण
  5. मौलिक सार्वनामिक विशेषण
  6. यौगिक सार्वनामिक विशेषण

1. संकेतवाचक सार्वनामिक विशेषण

वे सर्वनाम शब्द जो संज्ञा शब्दों की विशेषता का बोध या जानकारी करवाता हैं उसे संकेतवाचक सार्वनामिक विशेषण कहते हैं।

जैसे:- वह, यह, उस, इस इत्यादि।

उदाहरण :-

  • उसके पास बाइक हैं।
  • उसे पैसे चाहिए।
  • वह रो रहा हैं।
  • यह हस रहा हैं।
  • इस पर रख दो।

2. अनिश्चयवाचक सार्वनामिक विशेषण

जब किसी वाक्य में कोई या कुछ जैसे शब्द सर्वनाम शब्द संज्ञा से पहले प्रयुक्त (लगाये)होते हैं तथा संज्ञा शब्दों की विशेषता का बोध करते हैं। उसे अनिश्चयवाचक सार्वनामिक विशेषण कहते हैं।

उदाहरण :-

  • मुझे कुछ नमकीन खाना हैं।
  • मैं कुछ खरीद के लाया हूँ
  • तुम मेरे कोई नहीं हो।
  • मैं कुछ सेव लाया हूँ।
  • तुम मेरे लिए कुछ लाये हो या नहीं।

3. प्रश्नवाचक सार्वनामिक विशेषण

जब किसी वाक्य में कौन, क्या, कैसे, आदि शब्द संज्ञा की विशेषता के लिए प्रयोग किये जाते हैं। जब उस वाक्य को प्रश्नवाचक सार्वनामिक विशेषण कहते हैं।

उदाहरण :-

  • क्या आप थे।
  • क्या आप पूरी रात नहीं सोये हैं।
  • आप कौन हैं।
  • आप अभी कैसे हैं।
  • आप क्या क्या करते हैं।

4. सम्बन्धवाचक सार्वनामिक विशेषण

जब किसी वाक्य में मेरा, तुम्हारा, उसका, जिसका, जैसे शब्दों के रूप में सर्वनाम संज्ञा शब्दों की विशेषता बताता हैं उसे सम्बन्धवाचक सार्वनामिक विशेषण कहते हैं।

उदाहरण :-

  • मेरे पास दो कार हैं।
  • वो उसका भाई हैं।
  • जिसका होंगा वो ले जायेगा।
  • तुम्हारा कोन हैं।
  • मेरी चॉबी हैं।

5. मौलिक सार्वनामिक विशेषण

ऐसे शब्द जो अपने मूल रूप में संज्ञा के आगे लगकर संज्ञा की विशेषता बताते हैं। उसे मौलिक सार्वनामिक विशेषण कहते हैं।

उदाहरण :-

  • यह सब्जी बहुत दिन की हैं।
  • यह कार मेरी हैं।
  • तुम बहुत पतले होते जा रहे हो।
  • तुम बहुत सुन्दर हो।
  • तुम बहुत उच्च खाना बनती हो।

6. यौगिक सार्वनामिक विशेषण

ऐसे शब्द जो मूल रूप से वाक्यों में ऐसे, कैसे, जैसे, इतना, उतना, इत्यादि जो सर्वनाम में प्रत्यय लगाने से बनते हैं। तथा उस शब्दों के द्वारा संज्ञा की विशेषता को बताता हैं। उसे यौगिक सार्वनामिक विशेषण कहते हैं।

उदाहरण :-

  • अगर आपको वैसे कपड़े दिखे तो बताना।
  • ये कैसे हुआ।
  • आपको इतनी सारी चोट कैसे लग गई।
  • आप कैसे हैं।
  • आपने उतना खाना खा लिया हैं।

जरूर पढ़िए :

आशा हैं आपको सार्वनामिक विशेषण की समस्त जानकारी पसंद आयी होगी।

यदि आपको यह पोस्ट पसंद आयी हो तो दोस्तों के साथ शेयर कीजिए।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.