शरीर के अंगों के नाम और उनके कार्य

इस पेज पर आप शरीर के अंगों के नाम को हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषा में पढ़ेंगे। तो चलिए शरीर के अंगों के नाम और उनके कार्य पढ़ना शुरू करते हैं।

शरीर के अंगों के नाम और उनके कार्य

मानव के शरीर की सम्पूर्ण संरचना में एक सिर, गर्दन, धड़, दो हाथ, दो पैर आदि अनेको अंग होते हैं। इन्हीं अंगों की मदद से हम अपने दैनिक कार्य आसानी से कर सकते हैं।

मानव शरीर का प्रत्येक अंग बहुत महत्वपूर्ण होता है और हमे इन अंगो के नाम हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में ज्ञात होना भी आवश्यक है इसलिए आज हम शरीर के अंगों के नाम और उनके कार्य को जानेंगे।

1. खोपड़ी (Skull)

मनुष्य के सिर के अंतः कंकाल के भाग को खोपड़ी कहते हैं इसमें 29 अस्थियां होती हैं इसमें से 8 अस्थियां संयुक्त रूप से मनुष्य के मस्तिष्क को सुरक्षित रखती हैं इन अस्थियों से बनी रचना को कपाल कहाँ जाता हैं।

कपालों की सभी अस्थियां सीवनों के द्वारा दृढ़तापूर्वक जुड़ी रहती हैं इनके अतिरिक्त 14 अस्थियां चेहरे को बनाती हैं 6 अस्थियां कान को हाइड नामक एक और अस्थि खोपड़ी में होती हैं।

कंकाल तंत्र के कार्य

  • शरीर को निश्चित आकार प्रदान करना
  • शरीर के कोमल अंगों को सुरक्षा प्रदान करना
  • पेशियों को जुड़ने का आधार प्रदान करना
  • श्वसन एवं पोषक में सहायता प्रदान करना
  • लाल रक्त कणिकाओं का निर्माण करना

2. मस्तिष्क (Brain)

Brain

मनुष्य का मस्तिष्क अस्थियों के खोल क्रेनियम में बंद रहता हैं जो इसे बाहरी आघातों से बचाता हैं मनुष्य का मस्तिष्क अस्थियों के खोल क्रेनियम में बंद रहता हैं जो इसे बाहरी आघातों से बचाता हैं। मस्तिष्क केंद्रीय तंत्रिका तंत्र का मुख्य भाग माना जाता हैं।

मस्तिष्क का कुल वजन 1400 ग्राम होता हैं मस्तिष्क 8 हड्डियों के खोल क्रेनियम के अंदर सुरक्षित होता हैं।

हमारा मस्तिष्क यानी दिमाक बहुत सी चीजों को समझ कर हमें सन्देश देता हैं जैसे कि सांस लेना, खाना खाना, पानी पीना, हम अपने जीवन में रोजाना जो भी कार्य करते हैं दिमाक के आदेश के अनुसार ही करते हैं।

3. भौवे (Eyebrow)

आई ब्रो का रंग काला और किसी-किसी की आई ब्रो का रंग भूरा होता हैं आई ब्रो की वजह से हमारे फेस की सुंदरता दिखती हैं।

4. आँख की पुतली (Eyeball)

Eyeball

आंख मनुष्य का ऐसा अंग है जो प्रकाश के लिए सबसे संवेदनशील हैं।

मनुष्य की आँख प्रकाश को संसूचित करके तंत्रिका कोशिकाओं द्वारा विद्युत रासायनिक संवेदो में बदलने का कार्य करती है जिनकी न्यूनतम देखने की क्षमता 25 सेंटीमीटर एवं अधिकतम देखने की क्षमता अनन्त होती हैं।

5. नाक (Nose)

नाक मानव शरीर के मुंह में होती हैं इसकी मदद से ही हम साँस लेने और सूंघने का कार्य करते हैं। नाक की सहायता से हम मीठा, खट्टा, खराब, अच्छा सूंघ कर पता कर सकते हैं।

यदि कहीं स्वादिष्ट खाना बनता हैं तो नाक को पहले ही खुशबू आ जाती है।

6. कान (Ear)

Ear

हमारे शरीर में कान वह अंग हैं जो ध्वनि का पता लगाता हैं हमारे शरीर में कान दो होते हैं “कान” का जो हिस्सा हमें दिखाई देता हैं वह ऊतकों से निर्मित एक प्रालंब होता हैं जिसे हम बाह्य कर्ण या कर्णपाली कहते हैं।

मानवीय कान के तीन भाग होते हैं।

  • बाह्य कर्ण
  • मध्य कर्ण
  • आंतरिक कर्ण

7. गाल (Cheeks)

गाल हमारे मुँह का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा होता हैं गाल हमारी आँखों के नीचे और नाक के दाएं-बाए और दोनों कान के बीच का क्षेत्र होता हैं।

8. होठ (Lips)

Lips

होंठ मनुष्य के मुंह का बाहरी दिखने वाला भाग होता हैं जो हमें दिखाई देता हैं मनुष्य के होंठ कोमल, लचीले तथा चलायमान होते हैं।

हम भोजन मुँह के द्वारा ही ग्रहण करते हैं इसके अलावा मुँह के द्वारा ही हम ध्वनि का सही उच्चारण करते हैं जिसकी वजह से हम आपस मे बात चीत कर पाते हैं।

9. मूंछ (Moustache)

पुरूषों के होठों के ऊपर बाहरी भाग में निकलने वाले बालों के समूह को मूछ कहाँ जाता हैं पुरुषों में मूंछ युवावस्था के समय निकलती हैं और पुरुषों की शान मूछों में ही होती हैं।

10. मुंह (Mouth)

मुँह मानव शरीर के आहार नली का प्रथम भाग होता हैं मुँह के द्वारा ही शरीर में भोजन प्रेवेश होता हैं मुँह से ही भोजन को लार मिलती हैं मुँह से हम बात कर पाते हैं मुँह के द्वारा ही हमारी आवाज बाहर निकलती हैं और दूसरे व्यक्ति को सुनाई देती हैं।

11. जबान/जीभ (Tongue)

मुखगुहा के फर्श पर स्थित एक मोटी एवं मांसल रचना जीभ होती हैं जीभ के ऊपरी सतह पर कई छोटे-छोटे अंकुर होते हैं जिन्हें स्वाद कलियाँ कहते हैं।

जीभ के अगले हिस्से में मीठे स्वाद को पहचाने वाली स्वाद कणिकाओ की संख्या अधिक होती हैं जबकि मध्य भाग में नमकीन स्वाद को पहचानने वाली स्वाद कणिकाएँ अधिक होती हैं। और सबसे अंतिम भाग में कड़बे स्वाद को पहचानने वाली स्वाद कणिकाएँ अधिक मात्रा में होती हैं।

12. दाँत (Teeth)

Teeth

मुखगुहा के ऊपरी तथा निचले दोनों जबड़ो में दाँतो की एक-एक पंक्ति पायी जाती हैं।

मनुष्य के एक जबड़े में 16 दाँत और दूसरे जबड़े में 16 दाँत तथा कुल 32 दाँत होते हैं।

जबड़े के प्रत्येक ओर दो कृन्तक (Incisors) एक रदनक (Canine), दो अग्र चवर्णक (Premolars) तथा तीन चवर्णक (Molars) दाँत पाए जाते हैं।

13. दाढ़ी (Beard)

मुँह, गाल, ठोड़ी और गले में आने वाले बालों को दाड़ी कहते हैं पुरषों की दाढ़ी युवावस्था में निकलती हैं लड़के जैसे-जैसे बड़े होते जाते हैं।

उनकी दाढ़ी में बाल आने लगते है वैसे तो दाड़ी सिर्फ पुरुषों की निकलती हैं लेकिन हार्मोन की गड़बड़ी के कारण यह महिलाओं में भी दिखाई देने लगती हैं।

14. चेहरा (Face)

हमारा चेहरा ही होता हैं जिससे हम आकर्षित दिखते हैं शरीर में एक फेस ही होता हैं जिससे हमारी सुंदरता का पता चलता हैं सभी व्यक्तियों का चेहरा अलग-अलग होता हैं।

15. गर्दन (Neck)

गर्दन मानव शरीर का एक हिस्सा होता हैं गर्दन के कारण शरीर रीढ़ की हड्डी और सिर को धड़ से जोड़ता हैं हमारा पूरा शरीर गर्दन की वजह से चेहरे से जुड़ा होता हैं।

16. फेफड़े (Lungs)

फेफड़े गैसीय पदार्थ कार्बनडाई आक्साइड और जलवाष्प का उत्सर्जन करता हैं कुछ पदार्थ होते है जैसे लहसुन, प्याज, और कुछ मसाले जिसमें वाष्पशील घटक होते हैं जिसका उत्सर्जन फेफड़ो के द्वारा ही होता हैं।

17. पेट (Tummy)

पेट एक पेशीय खोखला पोषल नली का फैला हुआ भाग होता हैं जो पाचन नली के प्रमुख्य अंग के रूप में कार्य करता हैं पेट या अमाशय ग्रास नली ओर छोटी आंत के बीच में स्थित होता हैं यह छोटी आंत में पचे हुए भोजन को भेजने के पहले अवाध पेशी ऐठन के माध्य्म से भोजन के पाचन में सहायक के लिए प्रोटीन, एंजाइम और तेज अम्लों को स्त्रावित करता हैं।

18. यकृत (Liver)

यकृत, कोशिकाएं आवश्यकता से अधिक अमीनो अम्ल तथा रुधिर की अमोनिया को यूरिया में परिवर्तित करके उत्सर्जन में मुख्य भूमिका निभाता हैं।

यह मानव शरीर की सबसे बड़ी ग्रंथि हैं इसका वजन लगभग 1.5 – 2 किलोग्राम होता हैं यकृत द्वारा ही पित्त स्त्रावित होता हैं यह पित्त आतँ में उपस्थित एंजाइम की क्रिया को तीव्र कर देता हैं।

यकृत के कार्य

  • भोजन में वसा की कमी होने पर यकृत कार्बोहाइड्रेट के कुछ भाग को वसा में परिवर्तित कर देता हैं।
  • यकृत प्रोटीन की अधिकतम मात्रा को कार्बोहाइड्रेट में परिवर्तित कर देता हैं।
  • कार्बोहाइड्रेट उपापचय के अंर्तगत यकृत रक्त के ग्लूकोज वाले भाग को ग्लाइकोजेन में परिवर्तित कर देता हैं।
  • ग्लूकोज की आवश्यकता होने पर यकृत संचित ग्लाइकोजेन को खंडित कर ग्लूकोज में परिवर्तित कर देता हैं इस प्रकार यह रक्त ग्लूकोज की मात्रा को नियमित बनाए रखता हैं।

19. आंत (Intestine)

छोटी आंत में भोजन के पाचन की क्रिया पूर्ण होती हैं एवं पचे हुए भोजन का अवशोषण होता हैं छोटी आतँ की दीवारों से आंतरिक रस निकलता हैं।

20. दिल (Heart)

एक स्वस्थ मनुष्य का हृदय 72 से 75 बार एक मिनट में धड़कता है।

हृदय के स्पन्दन की यह गति कम भी हो सकती है और अधिक भी हर एक सपन्दन के साथ सर्वप्रथम दोनों एट्रियम का और उसके बाद दोनों वेन्ट्रिकल्स संकुचन होता है।

संकुचन के बाद दोनों एक साथ शिथिल होते है। हृदय में यह स्पन्दन आधीवन निरन्तर चलता ही रहता है।

महिला के शरीर के अंगों के नाम

महिला के शरीर के अंगों के नाम हिन्दी में शरीर के अंगों के नाम अंग्रेजी में
बालHair
माथाForehead
पलकEyelid
आंखेंEyes
मुंहMouth
बांह, भुजाArm
दांतTooth, Teeth
कमर, पीठBack, Waist
कन्धाShoulder
पेटStomach
घुटनाKnee
गलाThroat
टांगLeg
हाथHand
नाकNose
कानEar
आंखEye
पैरFoot
सिरHead
चेहराFace
हंसमुखSmiley Face
गर्दनNeck
नाखूनNail
त्वचा, खालSkin
मुठ्ठीFist
होंठLip
रक्तBlood
भौंहBrow
स्तनBreast
कोहनीElbow
स्तन का अगला भाग, चूचीNipple
नाभिNavel
बगल, कांखArmpit, Womb
ठुड्डीChin
माथाForehead
गालCheek
टखनाAnkle
दिमागBrain
चेहराFace
भौंEyebrow
पलकEyelid
जीभTongue
ह्रदयHeart
पैर की उंगलीToe
शरीरBody
अंगुलियाँFingers
अंगूठाThumb
आंतIntestine
एढ़ीHeel
कंठLarynx
कनपटीTemple
कलाईWrist
खोपड़ीSkull
गुर्दाKidney
घुटनाKnee
छातीChest
जबड़ाJaw
जाँघThigh
जिगरLiver
जोड़Joint
नथुनाNostril
नसNerve, Vein
पंजाPaw
पसलीRib
फेफड़ाLung
माँसपेशीMuscles
रीढ़Spine
हड्डीBone
हथेलीPalm
पेटBelly
पिंडलीCalf
अनामिकाRing Finger
कान का परदाEardrum
छोटी उंगलीLittle Finger
गर्भाशयUterus
चुतडRump
बालों का जूडाBun
तर्जनीIndex Finger
तालुPalate
पित्तBile
नेत्रगोलक, आँख की पुतलीEyeball
बरौनीEyelash
भ्रूणEmbryo
बीच की ऊँगलीMiddle-Finger
मूत्राशयUrinary Bladder
लारSaliva
स्वास नली, कंठनालTrachea

पुरुष के शरीर के अंगों के नाम

नीचे आप पुरुष के शरीर के अंगों के नाम को हिंदी और अंग्रेजी भाषा में जानेंगे।

परुष के शरीर के अंगों के नाम हिन्दी में शरीर के अंगों के नाम अंग्रेजी में
हड्डीBone
गालCheeks
छातीChest
कानEar
कोहनीElbow
भौंहEyebrow
आँखEye
चेहराFace
अंगुलीFinger
पैरFoot
माथाForehead
मसूड़ाGum
बालHair
हाथHand
एड़ीHeel
घुटनाKnee
होंठLip
मुँहMouth
नाखूनNail
नाभिNavel
गर्दनNeck
नाकNose
हथेलीPalm
कंधाShoulder
आमाशयStomach
जांघThigh
गलाThroat
जीभTongue
दांतTooth
कमरWaist
कलाईWrist
नितम्बButtock
पिंडलीCal
उपास्थिCartilage
गुदाAnus
धमनीArtery
कमरBack
ठोड़ीChin
उदरBelly
रीढ़ की हड्डीBckbone
दाढ़ीBeard
पित्तBile
मूत्राशयBladder
दिमागBrain
सांसBreath
पंजाClaw

जरूर पढ़िए :

उम्मीद हैं आपको शरीर के अंगों के नाम और उनके कार्य की जानकारी पसंद आयी होगी।

यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.